Header Ads

  • ताजा खबरें

    नशे का आधिन होचुका बदलापूर के युवक ने गवाई अपनी जान

    The youth of Badlapur lost his temper due to drunkenness
    बदलापूर (महाराष्ट्र विकास मिडिया)- बदलापूर शहर में रिक्षा चलाकर अपना गुजारा करनेवाले 35 वर्षीय युवक संदीप गायकवाड को नशे की लग लगने के कारण आखिरकार उसे अपनी जान गवानी पडी।
    6 महिने पहले उक्त युवक को पैरपर चोट लगी थी, उस चोटको गंभीरता से न लेते हुए संदीप ने मलमपट्टी कर अपने काम पर निकल गया। बता दें कि, संदिप गायकवाड को शराब की लत लग चुकी थी जिसके कारण वह हररोज शराब पीने लगा जिसके कारण उसका स्वाथ्य कई बार बिगडा। लेकिन उस वक्त भी संदिप ने अपने शरिर के अंदरुनी आवाज को अंदेखा किया।
    शराब की लत एवं पैर पर जखम होने के बाद भी गंभिरतापुर्वक उसका इलाज ना करन कि वजह से आखिरदार पैर में पस जमा होकर जखम अंदर तक फैल गया।
    इसके बाद संदिप के पत्नि ने उल्हासनगर के रुग्णमित्र भरत खरे से मदत की गुहार लगाई। खरे ने कामगार अस्पताल के आर.एम.ओ. डॉ. विलास डोंगरे की मदत से डोंबिवली के शिवम अस्पताल में संदिप को दाखल किया एवं उसका 20 दिन तक ट्रिटमेंट चला। ट्रिटमेंट के बाद उसे डिस्चार्ज दिया गया।
    अस्पताल में 20 दिन इलाज कराने के बाद जब जखम भरने पर था उस वक्त संदिप गायकवाड ने फिरसे शराब पीना शुरु किया जिसके कारण उसका जिसके कारण पुन्हा एकबार उसकी प्रकृति खराब हुई। इस बार समाजसेविका श्रीमती. निशा भरत खरे ने संदिप गायकवाड के सहकार्य करते हुए सेंट्रल अस्पताल में इलाज के लिए दाखिल कराया। इलाज किए गए पैर अब सड चुका था जिसके कारण जखम को स्वच्छ किया गया एवं पैर का एक्सरे निकालते वक्त संदिप ने दम तोड दिया।

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad