Header Ads

  • ताजा खबरें

    गणेश उत्सव शांती और प्यार से मनाने के लिए नियोजन करनेका मुख्यमंत्री फडनवीस ने दिया निर्देश

    मुंबई (महाराष्ट्र विकास मिडिया)- गणेश उत्सव सही पैमाने में उत्सव ही रहना चाहिए। इसलिए गणेश उत्सव शांतीपूर्वक मनाने के लिए सभी को एकजूट होना चाहिए। गणेश मंडलों ने ऑनलाईन तरिके से नाम दर्ज कराना चाहिए साथ ही लॉ एण्ड ऑर्डर को ध्यान में रखते इंतझाम करने का निर्देश मुख्यमंत्री देवेंद्र फणनवीस ने दिया।
    सार्वजनिक गणेश उत्सव के दिनों राज्य में लॉ एण्ड ऑर्डर के विषय पर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस के निगरानी में आज सह्याद्री अतिथीगृह में बैठक सम्पन्न हुई। इसमें समन्वय समिती की ओर से प्रकाशित किया गया जानकारी किताब का प्रकाशन मुख्यमंत्री महोदय के करकमलों से किया गया।
    मुख्यंत्री फडनवीस ने कहा, सार्वजनिक उत्सव मंडल और धर्मादाय संस्था, विश्र्वस्त मंडलों ने इस बार नाम दर्ज कराने के लिए ऑनलाईन प्रणाली शुरु की जाएगी। पासपोर्ट के लिए जिसप्रकार ऑनलाईन सरल मार्ग से नाम दर्ज कराया जाता है और अपॉईंटमेंट मिलती है ठिक उसी तरह मंडलों के नामनिर्देशन दर्ज कराने की प्रक्रिया अब सरल की गई है। ऑनलाईन प्रक्रिया होने के कारण अब किसीभी दफ्तर में चक्कर काटने की जरुरत नहीं पडेगी। गणेशोत्सव समन्वय समिती और गणेशोत्सव महासंघटनाओं ने जिसप्रकार सुचना दिए थे उसके आधारित यह प्रणाली अबसे शुरु की गई है।
    पुलिस प्रशासन ने बाप्पा के आगमन और विसर्जन रैली के वक्त वाहनों की नियोजन अच्छी तरीके के करें। साथ ही पारंपारिक वाद्यों को परमिशन देने के लिए पुलिस प्रशासन पॉझिटिव्ह भुमिका रखेंगे ऐसा आशा करते है। गणेश उत्सव के दरम्यान ज्यादा से ज्यादा बारा बजे तक स्विकर को बजाने की परमिशन देने के लिए प्रयास किया जायेगा ऐसा भी श्री. फडनवीस ने बताया।
    उत्सव के इन दिनों गणेश उत्सव मंडलों को स्वच्छता की ओर ज्यादा ध्यान देगा होगा ऐसी सुचना शिक्षण मंत्री श्री. शेलार ने बैठक में की। गणेश मुर्ती के विसर्जुन रैली में रात के दस बजे के बाद पारंपारिक वाद्य को परमिशन देने की मांग पुने के मंडलों कीऐसी जानकारी श्री. भेगडे ने महाराष्ट्र विकास प्रतिनिधी को दी। उस वक्त बैठक में श्री. दहिबावकर, श्री. साळगावकर, संजय सरनौबत अन्य लोग उपस्थित थे।

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad