Header Ads

  • ताजा खबरें

    बाढ में मृतकों की संख्या बढी, 29 लोगों की डुबकर मौत, 9 लापता

    Kolhapur (Maharashtra Development Media) - Due to heavy rains in Kolhapur, Sangli, Satara district, due to heavy rains for the last several days, there has been a big loss in all these districts. Due to this flood situation, hundreds of people have been relocated to a safe place and the work of helping flood victims is in a hurry. Information was given to the Maharashtra Development Media by Divisional Commissioner Dr. Deepak Mhasekar.  So far, a total of 29 people have drowned in the flood and 9 people are missing. A total of 285261 such citizens have been evacuated to 111356 from Kolhapur district, 13400 from Sangli district, 9521 from Satara district, 23437 from Solapur district. Those flood victims have been arranged in 480 prevention centers. Contact with 28 villages of Sangli and 18 villages of Kolhapur has broken down completely.  In Kolhapur, a total of 48 rescue times and 63 kashti are engaged in rescue work. In Sangli, with the help of 32 rescue teams and 85 kashtis, all efforts are being made to take the trapped people to a safe place. 569 personnel are engaged in rescue work. Simultaneously, 12 of Navi teams have entered Sangli and food items are being distributed by the helicopter. 47 roads of Sangli and 88 routes of Kolhapur have been closed.  Number of dead animals (primary information)  Cows, calves, buffalo goats and chickens  Kolhapur 10, 14, 29, 5800  Sangli 10, 3, 4, 6, 2700  Satara 3, 5, 3, 2100  Due to the Wadh, the administration is being given Rs 15 thousand to the old people of the city and 10 thousand rupees to the village residents. Madat's Rakam will be given immediately after the Panchnama.
    कोल्हापूर (महाराष्ट्र विकास मिडिया)- कोल्हापूर, सांगली, सातारा जिला में पिछले कई दिनों की भारी वर्षा के कारण वाढ आने से इन सभी जिलों में बडा नुकसान हुआ है। इस वाढ परिस्थिती के चलते सैकडों लोगों को सुरक्षित जगह पर स्थलांतरीत किया गया है तथा बाढ पिडीतों को मदत देने का कार्य जलद गती में है ऐसी जानकारी माहिती विभागीय आयुक्त डॉ. दिपक म्हैसेकर ने महाराष्ट्र विकास मिडिया को दी।
    अब तक कुल 29 लोगों की बाढ में डुबकर मौत हुई है तथा 9 लोग लापता है। कोल्हापूर जिला से 111356, सांगली जिला से 13400, सातारा जिला से 9521, सोलापूर जिला से 23437 ऐसे कुल 285261 नागरिकों को सुरक्षित जगह पर ले जाया गया है। उन बाढपिढीतों की व्यवस्था 480 निवारण केंद्र में की गई है। सांगली के 28 तथा कोल्हापूर के 18 गावों से संपर्क पुरी तरह टुट चुका है।
    कोल्हापूर में कुल 48 रेस्क्यु टिम और 63 कशती बचावकार्य में जुटे है। सांगली में 32 रेस्क्यु टीम और 85 कशतीयों के सहारे बाढ में अटके लोगों को सुरक्षित जगह पर ले जाने की पुरी कोशिश की जा रही है। 569 जवान बचावकार्य में जुटे है। साथ ही नेव्ही के 12 टीम सांगली में प्रवेश कर चुके है तथा हेटिकॉप्टर द्वारा खाने की वस्तुओं का वितरण किया जा रहा है। सांगली के 47 सढके एवं कोल्हापूर के 88 मार्ग बंद हो चुका है।

    मृत जानवरों की संख्या (प्राथमिक जानकारी)
    गाय, बछडे, भैस बकरी एवं मुर्गीयां

    कोल्हापूर 10, 14, 29, 5800

    सांगली 10, 3, 4, 6, 2700

    सातारा 3, 5, 3, 2100

    वाढ के कारण शहर के वाढपिढीतों को 15 हजार एवं गाव कसबे के बाढपिढीतों को 10 हजार रुपयों की मदत प्रशासनद्वारा दी जा रही है। पंचनामा होने के तुरंत बाद मदत की रक्कम दी जाएगी।

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad