Header Ads

  • ताजा खबरें

    बेघरों के मजबुरी का फायदा ना उठाए घर मालिक और ब्रोकर -महापौर पंचम कालानी ने किया आवाहन

    Ulhasnagar (Maharashtra Development Media) - The Mehek apartment recently fell like a deck of cards in the Ulhasnagar municipal area. Hundreds of residents living in that building have come home. As such, some homeowners and brokers in Ulhasnagar are hearing about raising rent by artificially. When this information was received by Umpa Mayor Pancham Kalani, he appealed to the flat brokers and homeowners not to take advantage of the compulsion of the homeless. In this way, increase the artificial fare and do not increase the problems of the tenants.  Interestingly, after the demolition of the aromatic apartment, about 400 flat holders of the 400 living in that building are now suddenly coming on the road, some victims have made their resort to their relatives but many victims are still looking for a rental home. Engaged in In this case, there is talk of triple rentals by homeowners and brokers, which has led to the plundering of residents of Mehek apartment already on the road and taking advantage of their compulsion. One thing is clear that humanity in Ulhasnagar city is considered less than money.  In view of this problem, the mayor of Umpa has urged brokers and flat owners to immediately stop such looting.
    उल्हासनगर (महाराष्ट्र विकास मिडिया)- उल्हासनगर महापालिका क्षेत्र में हालही में मेहेक अपार्टमेंट ताश के पत्तों की तरह गिर गई। उस बिल्डींग में रहनेवाले सैकडों रहिवासीयों पर बेघर होने की नौबत आई है। ऐसे में उल्हासनगर के कुछ घर मालिकों और ब्रोकर द्वारा आर्टिफिशियल रुप से किराया बढाने की बात सुनने में आ रही है। यह जानकारी जब उमपा की महापौर पंचम कालानी को मिली तब उन्होंने फ्लैट ब्रोकर और घर मालिकों से आवाहन किया है कि वे बेघरों के मजबुरी का फायदा ना उठाए। इस तरह आर्टिफिशियल किराया बढाकर किराएदारों की तकलीफों को और ना बढाए।
    गौरतलब हो कि, महक अपार्टमेंट के ढह जाने के बाद उस बिल्डींग में रहनेवाले 400 के करिब फ्लैट धारक अब अचानक से सढक पर आने से वे कुछ पिडीतों ने तो अपना आसरा अपने रिश्तेदारों के यहां किया है लेकिन कई पिडीत रहिवासी अब भी किराये का घर ढूंढने में लगे है। ऐसे में घर मालिकों और ब्रोकर द्वारा किराया तीन गुना करने की बात सामने आ रही है जिसके चलते पहले ही सढक पर आनेवाले मेहेक अपार्टमेंट के रहिवासीयों और उनके मजबुरी का फायदा उठाते हुए और भी लूटा जा रही है। इससे एक बात तो साफ होती है कि, उल्हासनगर शहर में इंसानियत पैसों से कम माना जाता है।
    इस समस्या को ध्यान में रखते हुए उमपा की महापौर ने ब्रोकर और फ्लैट मालिकों को इस प्रकार की लूट तुरंत बंद करने का आवाहन किया है।

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad