Header Ads

  • ताजा खबरें

    महाराष्ट्र के सव्वाचार लाख बाढपिढीतों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया

    Mumbai (Badlapur Vikas Media): - The administration's diligent efforts are underway to move the residents of the state to a safe haven. So far, the state has been able to relocate 2 lakh 5 thousand 5 persons. Disaster Control Room of the Government, Local Administration Officers, personnel and personnel of State and National Disaster Response Team, Army, Navy, Air Force, Coast Guard are working. Besides, eight naval squadrons of Visakhapatnam were on their way to Shirola (Dist. Kolhapur) with boats, informed the State Disaster Control Cell in the ministry.  Along with the local administration, three teams of National Disaster Management Force are present in Sangli, Kolhapur and Navy 2, Coast Guard 3 in Sangli and 3 in Kolhapur, 3 teams of army force, 3 in Sangli of State Disaster Management Force and 3 in Kolhapur. In addition, two naval teams of Visakhapatnam have reached Shirola (Dist. Kolhapur) with boats.  So far, 3 lakh 5 thousand 5 thousand people have been shifted to Kolhapur and 5 lakh 7 thousand 19 people from Sangli have been shifted to safe places. Assistance is underway in Kolhapur district with 6 boats and in Sangli district with 90 boats.  Disrupted villages and families  In Kolhapur district, the flood-hit villages - 19, affected families - 3 thousand 5 and flood-hit villages in Sangli district - 1 and family population - 3 thousand 3. Rescue work is underway in all these villages along with the administration squad and all other disaster prevention forces.  Due to the state government's immediate contact with the central government regarding the flood situation, troopers of the Army and Coast Guard have been working. The Disaster Control Cell of the Relief and Rehabilitation Department is functioning for two hours and the situation is being monitored from time to time in Sangli and Kolhapur districts. It is also in touch with the Central Government for assistance, the administration said.  Other affected villages in the state -  Satara - 9 Villages (Rescue Person - 19), Thane - 3 Villages (Rescue Person - 1), Pune - 3 Villages (Rescue Person - 1), Nashik - 3 Villages (Rescue Person - 19), Palghar - Total number of villages: 1 Villages (Rescue Person - 1), Ratnagiri - 2 Villages (Rescue Person - 1), Raigad - 2 Villages (Rescue Person - 1), Sindhudurg - 3 Villages (Rescue Person - 19). There are 761 villages in the affected counties and the city ura 6 to 9. The death toll in Puram has reached 90.
    मुंबई (महाराष्ट्र विकास मिडिया)- महाराष्ट्र राज्य के बाढग्रस्त इलाकों में अटके हुए आम नागरिकों को सुरक्षित स्थल पर भेजने में प्रशासन जुटी है। अब तक राज्य के कुल 4 लाख 24 हजार 333 बाढपिढीतों को सुरक्षित स्थल पर भेजने में प्रशासन को सफलता मिली है। सरकार की आपत्ती कंट्रोल रुप, स्थानिय प्रशासन के अधिकारी, कर्मचारी के साथ साथ राज्य एवं राष्ट्रीय आपत्ती रेस्पोंसिव दल, आर्मी, नौदल, वायूदल, तटरक्षक दल के जवान रेस्क्यु ऑपरेशन में कार्यरत है। इसके साथ ही विशाखापटनम के 15 नौदल की टिम कश्तियों के साथ शिरोळ (जि. कोल्हापूर) इलाके में रवाना हो चुकी है ऐसी जानकारी महाराष्ट्र राज्य आपत्ती कंट्रोल रुप ने दी।
    स्थानिय प्रशासन के साथ साथ सांगली, कोल्हापूर में राष्ट्रीय आपत्ती व्यवस्थापन टिम के 23 और नौदल के 26, तटरक्षक दल के सांगली में 2 एवं कोल्हापूर में 9 रेस्क्यु टिम, सैन्यदल की 8 टिम, राज्य आपत्ती व्यवस्थापन टिम की सांगली में 1 और कोल्हापूर में 1 ऐसी तीन टीम रेस्क्यु ऑपरेशन में जीजान लगा रही है।
    कोल्हापूर जिला में बाढग्रस्त गांव - 249, बाढपिढीत परिवार - 48 हजार 588 और सांगली जिला में बाढग्रस्त गांव की संख्या 108 तथा बाढपिढीत परिवारों की संख्या 28 हजार 537 के करिब है। इस सभी गावों में प्रशासन के टिम के साथ साथ अन्य सभी आपत्ती निवारण टिम रेस्क्यु ऑपरेशन में जुटे है।
    बाढपरिस्थिती में राज्य सरकार ने केंद्र सरकारसे तुरंत संपर्क करने से सैन्य दल एवं तटरक्षक दल की टिम जल्द हलचल में आई। मदद एवं पुनर्वसन विभाग आपत्ती नियंत्रण कक्ष 24 घंटे काम कर रही है साथ ही सांगली एवं कोल्हापूर जिला के बाढ का अंदाजा ले रही है। उसके साथ ही केंद्र सरकार के साथ मदद के लिए पूरी तरह संपर्क बनाए है।
    महाराष्ट्र राज्य के बाढग्रस्त गांव-
    सातारा - 118 गाव (रेस्क्यु किए गए बाढपिढीतों की संख्या - 9221, ठाणे - 25 गांव (रेस्क्यु किए गए बाढपिढीतों की संख्या - 13104), पुना - 108 गांव (रेस्क्यु किए गए बाढपिढीतों की संख्या - 13500), नासिक - 5 गांव (रेस्क्यु किए गए बाढपिढीतों की संख्या - 3894), पालघर - 58 गांव (रेस्क्यु किए गए बाढपिढीतों की संख्या - 2000), रत्नागिरी - 12 गांव (रेस्क्यु किए गए बाढपिढीतों की संख्या - 687), रायगड - 60 गांव (रेस्क्यु किए गए बाढपिढीतों की संख्या - 3000), सिंधुदुर्ग - 18 गांव (रेस्क्यु किए गए बाढपिढीतों की संख्या - 490) ऐसे कुल कोल्हापूर शहर के साथ 69 बाढग्रस्त तालुका और 761 गांव इसमें शामिल है। बाढ की वजह से मृतकों की संख्या 19 तक पहुंची है।

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad