Header Ads

  • ताजा खबरें

    कोल्हापूर में पाणी की कमी के कारण लोगों के मजबुरी का फायदा उठा रही है टैंकर व्यापारी ; 40 रुपयों को कैन 80 में

    Kolhapur (Maharashtra Development Media) - Due to floods in Kolhapur it has become difficult to get drinking water. In such a situation, taking full advantage of the compulsion of the people by the tanker traders selling water tankers, the water cans priced at Rs 40 have been reduced to Rs 80. Many citizens have complained on this subject.  On one hand, Kolhapur has faced a huge environmental crisis. In such a case, there is a case of selling water at double the price by merchants selling water. If you want to take it with you or else go, businessmen are also threatening the citizens. One, we are supplying water in such a situation, if we stop water when citizens say something about prices, is such a language being used by these traders.  Many such complaints have started coming up in the context of water sellers, due to which there is a demand of the general public to take strict action against such traders. On the one hand, the general public is helping flood victims in many areas of Maharashtra state on the one hand, while on the other side, flood victims are being looted by some water traders of the same flood affected areas.
    कोल्हापूर (महाराष्ट्र विकास मिडिया)- कोल्हापूर में बाढ के कारण पीने का पानी मिलना बडा ही मुश्लिम हुआ है। ऐसे में पानी टैंकर बेचनेवाले टैंकर व्यापारियों द्वारा लोगों की मजबुरी का पुरा फायदा उठाते हुए 40 रुपये कीमत वाला पानी का कॅन 80 रुपये कर दिया है। इस विषय पर कई नागरिकों ने शिकायत की है।
    एक तरफ कोल्हापूर पर पर्यावरण द्वारा बडा संकट आया है। ऐसे में पानी बेचनेवाले व्यापारीयों द्वारा पानी दोगुना भाव में बेचने का मामला सामने आ रहा है। साथ ही लेना है तो लो नहीं तो जाओ ऐसा नागरिकों को व्यापारी धमका भी रहे है। एक तो हम ऐसी स्थिती में पानी की सप्लाई कर रहे है उसमें अगर नागरिकों द्वारा किमतों के बारे में कुछ कहने पर पानी बंद करु क्या ऐसी भाषा का प्रयोग इन व्यापारीयों द्वारा किया जा रहा है।
    पानी बेचनेवालों के संदर्भ में ऐसी कई शिकायतें आने लगी है जिसके चलते ऐसे व्यापारीयों पर कठोर कारवाई करने की आम जनता की मांग है। बाढ में एक तरफ महाराष्ट्र राज्य के कई इलाकों से आम जनता बाढपिढीतों को मदद कर रही है तो दुसरी ओर उसी बाढग्रस्त इलाकों के कुछ पानी बेचनेवाले व्यापारीयों द्वारा बाढपिढीतों को लुटा जा रहै है।

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad