Header Ads

  • ताजा खबरें

    इस बार बकरी ईद के खर्चे में कटौती कर बाढग्रस्तों को मदत करने का मुस्लिम भाईयों का निर्णय


    मुंबई (महाराष्ट्र विकास मिडिया)- मुंबई सेंटल के ऑर्किट टॉवर में आनेवाले बकरी ईद के त्यौहार की हलचल शुरु है। हर साल बकरीयों की बली देकर मुस्लिम भाई बढी दावत देकर कुर्बानी का त्यौहार बडे ही धुमधाम से मनाते है। लेकिन इस बार पश्चिम महाराष्ट्र में बाढ को देखते हुए इस बार कुर्बानी में कटौतती कर उस बचे पैसों से बाढग्रस्तों को मदत के लिए हात बढाने का निर्णय मुस्लिम भाईयों ने लिया है।
    साथ ही 15 अगस्त के दिन स्वतंत्रता दिन के उपलक्ष्य में लोगों के घर-घर जाकर एक भारतीय के हैसियत से बाढग्रस्त देशवासियों को मदत करने के लिए आगे आने की गुहार लगाएंगे ऐसा आवाहन अल्पसंख्यक मुस्लिम सामुदाय की ओर से किया गया।
    एक बकरी की कीमत 15 से 20 हजार के करिब होती है। उसकी कुर्बानी देकर बडी दावत दी जाती है। इसपर लाखो रुपये खर्च किया जाता है। लेकिन उसके बदले कटौती कर हम बाढपिढीत परिवारों को मदत करेंगे तो भी हमने इंसानियम का एक धर्म निभाया ऐसी हमें महसुस होगा ऐसी भावना उन्होंने व्यक्त की।
    हालफिलाल त्यौहार मनाने के बजाय बाढग्रस्त लोगों को दवाई, गरम कपडे, सुखा मेवा ऐसा सामग्री मदत की तौर पर भेजने के कार्य शुरु किया गया है। जिसके कारण धर्म, जाती, भाषा, प्रांत के आधार पर इस भारत में कितना भी ध्रुवीकरण करने का प्रयास हो विपती के समय मनुष्य सब कुछ भुलकर मदत के लिए आगे बढता है इसका जीता जागता उदाहरण इस सभी लोगों ने बताया है।

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad