Header Ads

  • ताजा खबरें

    बाढपिढीतों को मदद पहुंचाने के लिए परिवहन मंडल पहल करेंगे -परिवहनमंत्री दिवाकर रावते

    Pune (Badlapur Vikas Media): Transport Minister Diwakar Rawate has been entrusted with the responsibility of planning and coordinating the transportation of Regional Transport Officer Ajit Shinde to reach the flood victims.  Shri. Rarate visited the Divisional Commissioner's Office. I received help from Deepak Mhasaker. He said that the relief officers, who had gathered for the flood victims in Sangli and Kolhapur, would be transported to the place in a proper manner by the truck.  Mr. Rawate said that the Maharashtra State Transport Corporation had taken initiative to provide relief to flood victims and provided 10 buses for the NDRF personnel to take the flood victims to Pune. They are still with them today. Arrangements were made to send relief from 41 trucks through the Department of Transport. 11 Innova trains were provided for NDRF. The disaster department is working day and night to rescue and assist in flood affected areas. He also said that the women in this department have to work till late.  Due to the flood situation in Kolhapur and Sangli, the mountains were damaged due to landslides in Bhairavgarh in Satara district. The village has been evacuated and villagers have taken shelter in the temple. Traffic was stopped due to the roads leading to the village. The village needs to be rehabilitated and at present, they have to provide temporary shelter. He said the district collectors have visited and inspected the village, their report will come to the Commissioner, then they will have to provide alternative places and try to rehabilitate them. She appreciated the arrangement of a banquet for the villagers of Bhairavgarh through a women's organization.
    पुना (महाराष्ट्र विकास मिडिया)- पुना के विभागीय आयुक्त कार्यालय में बाढग्रस्तों के लिए आयी हुई मदद सामग्री बाढग्रस्त इलाकों में भेजने की जबाबदारी प्रादेशिक परिवहन अधिकारी अजित शिंदे पर दी गई है ऐसा परिवहन मंत्री दिवाकर रावते ने जानकारी दी।
    विभागीय आयुक्त दफ्तर में रावते पहुंचकर विभागीय आयुक्त डॉ. दिपक म्हैसेकर से मुलाकत कर मदद की जानकारी ली। सांगली और कोल्हापूर के बाढग्रस्तों को लिए जमा किया गया मदद सामग्री अधिकारी जिस इलाकों में कहेंगे उस जगह ट्रक को सही तरीके से पहुंचाया जाएगा ऐसा भी उन्होने बताया।
    श्री. रावते ने आगे कहा कि, बाढग्रस्तों को मदद करने के लिए महाराष्ट्र राज्य परिवहन महामंडल पहल कर चुकी है। एनडीआरएफ के जवानों को पुना से बाढग्रस्त इलाकों में भेजने के लिए 10 बसें मुहैय्या कराया गया है। वे बस आजभी उन्हीं के पास है। एनडीआरएफ के लिए 11 इनोव्हा कार भी दिया गया है। बाढग्रस्त इलाकों में बचाव और मदद के लििए आपत्ती विभाग दिन रात कडी मेहनत कर रहे है। इस विभाग के महिलाओं को रात्र देर तक काम करना पड रहा है उन्होंने सुरक्षित तौर पर घर छोडने की जबाबदारी भी परिवहन विभाग ने ली है ऐसा उन्होंने बताया।
    कोल्हापूर और सांगली के बाढग्रस्त इलाकों में साता जिला के भैरवगड में पहाड से भुसखलन होने से घरों का काफी हद तक नुकसान हुआ है। सुरक्षा के नजरीये से गाव को खाली कराकर उन्हें मंदिर में आश्रय दिया गया है। गाव की ओर जानेवाले सढकें भी दबने के कारण वाहनों की आवाजाही बंद हुई। इन गावों को फिर एक बार खडा करने की जरुरत है हालफिलहाल उन्हे टेंपररी रिलिफ के लिए छत मुहैय्या कराने की जरुरत है। इस गाव को सातारा के जिला कलेक्टर ने पहुंचकर स्थिती का जायजा लिया साथ ही उनका अहवाल भी आयुक्त को आनेवाला है। उसके बाद दुसरे जगह को उपलब्ध कर बाढपिढीतों का पुनर्वसन करने का प्रयत्न किया जाएगा ऐसा उन्होंने कहा। भैरवगड के रहिवासीयों के लिए महिला संघटनाओं की ओर से मुफ्त में भोजन व्यवस्था करने के कार्य को देख उनको भी मंत्री महोदय ने शाब्बासी दी।

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad