Header Ads

  • ताजा खबरें

    आरे के कारशेड में मुख्यमंत्री का 18 हजार करोड का घोटाला -कांग्रेसी नेता संजय निरुपम ने लगाया आरोप

    मेट्रो कारशेड के संदर्भ में जनता को झुठी जानकारी दी जा रही है

    MUMBAI (Maharashtra Development Media) - Congress leader Sanjay Nirupam has accused the Chief Minister Devendra Fadnavis of scamming a total of Rs 18 crore in a metro carshed in Aare. MMRC seems to have a space of 30 hectares for Carshed. Nirupam has asked the question of why the government is talking about building a 30 hectare in the area of ​​Mumbai, where only 12 hectares of space is enough for the metros in the world. He further said that after constructing a 12 hectares of cartshed at Fadnavis, Nirupam claimed that the remaining space was in the hands of a big developer with money.  Congress leader Sanjay Nirupam raised the issue of the Metro Carshed at a press conference on Tuesday and directly targeted Chief Minister Devendra Fadnavis. The importance of the Mumbai Metro Rail Corporation (MMRC) Carshed as well as the advertisement of the place was recently published to remove misunderstandings of citizens and political parties. Sanjay Nirupam has declared all the issues of these advertisements as false. The site where the colony is about to be built is not coming to the Forest Forest Department, but it is the right of ownership of the Development Board, MMRC said. Nirupam also proved that false, saying that instead of a car shed, the Forest Department and the Revenue Department, Nirupam said that only the possession of this land was given to the Development Board. The MMRC had also said that other places were also seen for Carshed, out of which all of these lands would be found to be suitable for the land of Aarey. The details of which places were made for the carshed but no information on the subject is available in the concerned department which shows directly that there are no The administration was not looking at any other place in this survey. Sanjay Nirupam also alleged that the government is misleading the people by giving false information in the context of Carshed.  Congress leader Sanjay Nirupam directly accused the Chief Minister of scamming crores of rupees and now the Bharatiya Janata Party reacts to this. Chief Minister Devendra Fadnavis has not given any kind of response to the media till now. It may be recalled that the Shiv Sena, Maharashtra Navnirman Sena, these political parties as well as environmental lovers have protested vigorously for not becoming a car shed on the saw. Recently, Aditya Thackeray at the Janat Yatra program in Ambarnath said that Chief Minister Devendra Fadnavis is not telling the people the truth on the issue of Aare, after which both Shiv Sena and the Bharatiya Janata Party are seeing the beginning of the first crackdown in the assembly elections. .
    मुंबई (महाराष्ट्र विकास मिडिया)- आरे में बननेवाले मेट्रोल कारशेड में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस ने कुल 18 करोड रुपयों का घोटाला करने का गंभिर आरोप कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने लगाया है। एमएमआरसी ने कारशेड के लिए 30 हेक्टर की जगह लगती है. दुनियाभर में मेट्रो के कारशेड के लिए सिर्फ 12 हेक्टर की जगह काफी है लेकिन मुंबई के आरे पर बननेवाले कारशेड पर ही क्यों सरकार 30 हेक्टर की जगह में कारशेड बनाने की बात कर रही है ऐसा सवाल निरुपम ने पुछा है। उन्होंने आगे कहा कि, फडनवीस इस जगह पर 12 हेक्टर में कारशेड बनाने के बाद बची हुई जगह किसी पैसेवाले बडे डेव्हलोपर को देने के फिराक में है ऐसा दावा निरुपम ने किया।


    कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में मेट्रो कारशेड के मुद्दे को उठाते हुए सिधे तौर पर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस पर निशाना साधा है। मुंबई मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (एमएमआरसी) कारशेड का महत्व साथ ही जगह के विषय पर हालही में नागरिकों और राजनिती दलों की गलतफहमी को दुर करने के लिए विज्ञापन प्रकाशित किया गया था। इन विज्ञापन के सभी मुद्दों को संजय निरुपम ने झुठा बताया है। आरे कॉलनी के जिस जगह पर कारशेड बनने वाली है वह जमिन फॉरेस्ट विभाग में नहीं आती बल्कि दुधविकास मंडल के मालिकाना हक्क की यह जगह है ऐसी जानकारी एमएमआरसीने दी। इस बात को भी निरुपम ने झुठा साबित करते हुए कहा कि, कारशेड की जगह वनविभाग और महसूल विभाग की है, इस जमिन का सिर्फ ताबा दुधविकास मंडल के दिया गया है ऐसा निरुपम ने कहा। एमएमआरसीने यह भी कहा था कि कारशेड के लिए अन्य जगहों को भी देखा गया जिसमें से इन सभी जमिनों में से आरे की जमिन ही मुनासिब होगी इस बात पर भी संजय निरुपम कहते है कि, सुचना अधिकार एक्ट से हमने संबंधीत विभाग से जानकारी मांगी है कि कारशेड के लिए कौन कौनसे जगहों का ब्योरा किया गया लेकिन इस विषय की कोई भी जानकारी संबंधीत विभाग में उपलब्ध नहीं है जिससे सिधे तौर पर पता चलता है कि आरे जमिन के अलावा प्रशासन किसी अन्य जगह पर सर्वे या देखने नहीं गई थी। सरकार कारशेड के संदर्भ में जनता को झुठी जानकारी देकर गुमराह कर रही है ऐसा आरोप भी संजय निरुपम ने लगाया।


    कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने सिधे तौर पर मुख्यमंत्री पर ही करोडो रुपयों का घोटाला करने का आरोप लगाने से अब इस पर भारतीय जनता पार्टी क्या प्रतिक्रिया देती है इसपर सब की निगाहे टिकी है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस ने अब तक इस विषय पर मिडिया को किसी भी तरह की प्रतिक्रिया नहीं दी है। गौरतलब हो कि, आरे पर कारशेड ना बनने के लिए शिवसेना, महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना इन राजनैतिक पार्टीयों ने साथ ही पर्यावरण प्रेमीयों ने जोरदार विरोध प्रदर्शऩ किया है। हाल ही में अंबरनाथ में जनयात्रा कार्यक्रम में आदित्य ठाकरे ने आरे के मु्द्दे पर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस जनता को सच नहीं बता रहे है ऐसा कहा था जिसके बाद शिवसेना और भारतीय जनता पार्टी इन दोनों में विधानसभा चुनाव के पहले दरार की शुरुवात देखने को मिल रही है।

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad