Header Ads

  • ताजा खबरें

    कामगारों के नेता बदलापूर आगरी समाज के चहेता भाजपा के शरद म्हात्रे विधानसभा चुनाव लढने को है तैय्यार

    Badlapur (Maharashtra Development Media) - Sharad Mhatre, a favorite and worker of Kulgaon Badlapur Agari Samaj, is keen to become an MLA from Murbad assembly constituency in this assembly election. They have also demanded tikit from the party.  Sharad Mhatre, a resident of Badlapur West Manjarli, has been doing social work as an active member of the Bharatiya Janata Party for the last 25 years. He has been working for the last several years to solve the problems of the citizens of the city, from the workers working in MIDC. For the past several years, Sharad Mhatre is known as the Masiha who solved the problems of thousands of workers and fought against the injustice done to them. Sharad Mhatre's specialty is that till date, he has never used the party for his own selfishness. Through the party, he has taken the help of the party as an weapon against solving the problems of the citizens of the city as well as against the atrocities on the workers. He has been working in the Bharatiya Janata Party ever since Nandkishore Rambhau Patkar, Ghorpade, Vishe and few other leaders - activists were present in the BJP. He never left the party for his own selfishness during the bad times of the party, but he stood with the party like a rock even in bad times, due to which today it is considered as the Bharatiya Janata Party No.1 party in Badlapur. The party whose local administration had 6 municipal councils was also a big thing, today, 20-25 BJP members comfortably win elections in the same municipality. The MP is from the BJP, the MLA is from the BJP, the Bharatiya Janata Party is considered as a popular party among the voters in Badlapur city, so now the party should also think about their loyal workers, so Sharad Mhatre has entered this assembly election ground.  Sharad Mhatre reacted to the Maharashtra Development Media and said that, I have believed in increasing Aaj Tak Party and public service. Many people would have given money in the name of the party, but it is not my nature to make money through this route, the whole city of Badlapur knows this, so we did not earn money but it has earned lakhs of times more humanity and people's trust. Even today, my supporters never let my words fall. Due to the wishes of the loyal workers, this time the MLA is demanding the party for the election. Along with me, Nandkishore Rambhau Patkar is also demanding tikit. Tikit meets or will contest me and will win by a majority, claiming that, apart from the current MLA Kisan Kathore, the party should be given a tikit by the loyal worker, this is my demand and now the party is discussing such They said.  It may be noted that Kishan Kathore, the current MLA of Murbad assembly who has recently joined the party during the 2014 elections, has had many party workers against him this time. Kishan Kathore is being openly opposed by the loyal workers of the BJP, due to which the party has come to a rift due to the formation of two such factions, loyal workers and supporters of the BJP. Kathore supporters say that Kisan Kathore should remain an MLA till getting a ministerial position, so sincere activists say that power and government chair are not the wake of anyone. It remains to be seen whether the Bharatiya Janata Party thinks of loyal workers or uses the party only to tie the flag and banner of loyal workers.
    बदलापूर (महाराष्ट्र विकास मिडिया)- कुलगांव बदलापूर आगरी समाज के चहेता और कामगारों के नेता शरद म्हात्रे इस विधानसभा चुनाव में मुरबाड विधानसभा चुनाव क्षेत्र से विधायक बनने को उत्सुक है। वे पार्टी से तिकीट की मांग भी कर चुके है।
    बदलापूर पश्चिम मांजर्ली के रहनेवाले शरद म्हात्रे पिछले 25 सालों से भारतीय जनता पार्टी से सक्रीय सदस्य के रुप में समाज कार्य करते आ रहे है। उन्होंने शहर के नागरिकों की समस्याओं से लेकर एमआयडीसी में काम करनेवाले कामगारों की समस्या तक को हल करने का काम पिछले कई सालों से करते आ हे है। पिछले कई सालों से हजारो कामगारों की समस्या हल करने साथ ही उनपर हो रहे अन्याय के खिलाफ लडने वाले मसिहा के रुप में शरद म्हात्रे को जाना जाता है। शरद म्हात्रे की विशेषता यह है कि, उन्होंने आज तक पार्टी का अपने खुद के स्वार्थ के लिए कभी इस्तेमाल नहीं किया। उन्होंने पार्टी के माध्यम से शहर के नागरिकों की समस्या हल करने साथ ही कामगारों पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ शस्त्र के रुप में पार्टी की मदत ली है। वे उस वक्त से भारतीय जनता पार्टी में काम करते आ रहे है जब भाजपा में नंदकिशोर रामभाऊ पातकर, घोरपडे, विशे और कुछ गिने चुने नेता - कार्यकर्ता मौजुत थे। उन्होंने पार्टी के बुरे वक्त में पार्टी को अपने स्वार्थ के लिए कभी भी नहीं छोडा, बल्कि बुरी वक्त में भी पार्टी के साथ वे चट्टान की तरह खडे रहे जिसके कारण आज बदलापूर में भारतीय जनता पार्टी नंबर 1 की पार्टी मानी जाती है। जिस पार्टी के स्थानिय प्रशासन में 6 नगरपार्षद आना भी बडी बात थी आज उसी नगरपालिका में भाजपा के 20-25 सदस्य आराम से चुनाव जीतते है। सांसद भाजपा का है विधायक भाजपा का, बदलापूर शहर में मतदाताओं में भी भारतीय जनता पार्टी लोकप्रिय पार्टी के रुप में मानी जाती है ऐसे में अब पार्टी ने भी उनके निष्ठावान कार्यकर्ताओं के बारे में सोचना चाहिए इसलिए शरद म्हात्रे इस विधानसभा चुनावी मैदान में उतरे है।


    शरद म्हात्रे ने महाराष्ट्र विकास मिडिया को प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि, मैने आजतक पार्टी को बढाने और जनसेवा में ही विश्वास रखा है। पार्टी के नाम पर बहुत लोगों ने पैसे बटोरे होंगे लेकिन इस मार्ग से पैसा कमाना मेरी फितरत नहीं यह बात पूरे बदलापूर शहर को पता है इसलिए हमने पैसे नहीं कमाए लेकिन उससे लाख गुना ज्यादा इंसानियत और लोगों का विश्वास कमाया है। आज भी मेरे शब्दों को बदलापूर के हजारो मेरे समर्थक कभी गिरने नही देते। निष्ठावान कार्यकर्ताओं की इच्छा होने से ही इस बार के विधायक चुनाव के लिए मै पार्टी से तिकीट की मांग कर रहा है। मेरे साथ साथ नंदकिशोर रामभाऊ पातकर भी तिकीट की मांग कर रही है। तिकीट मुझे मिले या उन्हे चुनाव में मचाएंगे और बहुमत से जीतकर आएंगे ऐसा उन्होंने दावा करते हुए कहा कि, वर्तमान विधायक किसन कथोरे के अलावा निष्ठावान कार्यकर्ता को पार्टी ने तिकीट देना चाहिए ऐसी मेरी मांग है और इस पर अब पार्टी विचार विमर्श कर रही है ऐसा उन्होंने कहा।


    गौरतलब हो कि, मुरबाड विधानसभा के वर्तमान विधायक किसन कथोरे जो कि हालही में 2014 के चुनाव के वक्त पार्टी में आए है उन्हे खिलाफ इस बार पार्टी के कई कार्यकर्ता खडे हो चुके है। खुले तौर पर किसन कथोरे का विरोध भाजपा के निष्ठावान कार्यकर्ता कर रही है जिसके कारण भाजपा में निष्ठावान कार्यकर्ता और कथोरे समर्थक ऐसी दो गुट पार्टी में बनकर पार्टी में दरार आ गई है। कथोरे समर्थकों का कहना है मंत्रीपद मिलनेतक किसन कथोरे ही विधायक रहने चाहिए तो निष्ठावान कार्यकर्ता कहते है सत्ता और सरकारी कुर्सी किसी की जागिर नहीं। अब देखना यह है कि, भारतीय जनता पार्टी हायकमांड निष्ठावान कार्यकर्ताओं का विचार करती है या निष्ठावान कार्यकर्ताओं का झंडा और बैनर बांधने के लिए ही आखिरतक पार्टी इस्तेमाल करती है।

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad