Header Ads

  • ताजा खबरें

    फिर एक बार मराठी भाषा को निचा दिखाने का प्रयास? मुंबई मेट्रो प्रोजेक्ट के भुमिपुजन कोनशिला में मराठी के बजाय हिंदी भाषा का प्रयोग

    Mumbai (Maharashtra Development Media) - On Saturday, Bhumipujan program of three new metro routes of Mumbai was done by the Prime Minister of India, Narendra Modi. At that time Chief Minister Devendra Fadnavis was rightly a number of ministers, MMRDA. The key officers and staff of the meeting were present. Shortly after the inauguration of Konshila, the Government of Maharashtra and MMRDA But the social media Marathi speaking citizens as well as the Maharashtra Navnirman Sena have started strongly commenting. Government and MMIDA The same mistake has been done.  Actually, only the Hindi language has been used on Bhumipujan Konshila of Mumbai Metro. Mumbai city has a metro project and Mumbai comes in the state of Maharashtra, in such a situation it was appropriate to use Marathi language on Konshila, but once again the government and MMRDA were trying to degrade Marathi language. The Maharashtra Navnirman Sena party expresses its prohibition on this, said by MNS Sandip Deshpande to media.  Let me tell you that even before this, only Gujarati language was used on the banners giving information by the administration in a program of public Ganeshotsav in Thane Mahapalika. After which the Marathi speaking people and MNS strongly condemned the Thane Maharashtri.
    मुंबई (महाराष्ट्र विकास मिडिया)- शनिवार को भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के करकमलों से मुंबई के तीन नये मेट्रो मार्ग का भुमिपुजन कार्यक्रम किया गया। उस वक्त मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस सहीत कई मंत्री, एम.एम.आर.डी.ए. के प्रमुख अधिकारी और कर्मचारी मौजुत थे। कोनशिला के उद्घाटन के बाद कुछ ही समय में महाराष्ट्र सरकार और एम.एम.आर.डी.ए. पर सोशल मिडियावर मराठी भाषीय नागरिकों ने साथ ही महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने जोरदार टिप्पनी करना शुरु किया है। सरकार और एम.एम.आय.डी.ए. की गलती भी उसी प्रकार की हुई है।

    दरअसल, मुंबई मेट्रो के भुमिपुजन कोनशिला पर सिर्फ हिंदी भाषा का प्रयोग किया गया है। मुंबई शहर में मेट्रो का प्रोजेक्ट है और मुंबई महाराष्ट्र राज्य में आती है ऐसे में कोनशिला पर मराठी भाषा का प्रयोग करना उचित था लेकिन फिर एक बार मराठी भाषा को निचा दिखाने का काम सरकार और एम.एम.आर.डी.ए. द्वारा किया गया है इसका महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना पार्टी इसपर जाहिर निषेध व्यक्त करता है ऐसा मनसे के संदिप देशपांडे ने मिडिया को बताया।
    बता दें कि इसके पहले भी ठाणे महपालिका में सार्वजनिक गणेशोत्सव के एक कार्यक्रम में प्रशासन द्वारा सुचना देने वाले बैनरों पर सिर्फ गुजराथी भाषा का प्रयोग किया गया था। जिसके बाद मराठी भाषीक लोगों ने और मनसे ने ठाणे महपालिका की घोर निंदा की।

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad