Header Ads

  • ताजा खबरें

    गडकिले अब लिज पर ; जो औरंगजेब से नहीं हुआ वह काम महाराष्ट्र सरकार ने कर दिखाया -अमोल कोल्हे

    Mumbai (Maharashtra Development Media) - Gadkillas of Maharashtra State will be converted into Heritage Hotels. A list of 25 such websites has been compiled by Maharashtra Tourism Development Corporation (MTDC). This fort will be given to Lijpar Hotel for construction of resort and hotel. Efforts are on to use these forts not only for the hotel but also for the initiation and entertainment programs like wedding birthdays. Amol Kolhe, the nationalist's chief, expressed his displeasure over the decision, which was not done by Aurangzeb, which was done by the Maharashtra State Government and has been strongly supported.  Amol Kolhe has shared his video and brought his reaction to the people. Today the Maharashtra State Government is insulting the soldiers who sacrificed for the safety of Kadkot Fort, as they did. Who is suitable for a destination wedding in these forts? Because normal middle class families will go to the Chowk after listening to such destination fare. In such a situation, people who can afford such a destination wedding, do they have any knowledge of their history or have respect for the Gadkils? He also presented such a question. What is the reason for bringing the pride of Maharashtra on the road like this? He also said that he rested on the state government and the ruling party.
    मुंबई (महाराष्ट्र विकास मिडिया)- महाराष्ट्र राज्य के गडकिल्लों को हेरिटेज हॉ़टेल में बदला जाएगा। महाराष्ट्र पर्यटन विकास महामंडल (एमटीडीसी) की ओर से ऐसे 25 गडकिलों की लिस्ट निकाली गई है। यह किले लिजपर हॉटेल व्यापारीयों को रेसॉर्ट तथा हॉटेल निर्माण के लिए दी जाएगी। इन किलों का इस्तेमाल सिर्फ हॉटल ही नहीं बल्कि शादी जन्मदिन जैसे समारंभ और एंटरटेनमेंट कार्यक्रम के लिए भी उपयोग में लाने का प्रयास चल रहा है। इस निर्णय पर राष्ट्रवादी के सांसद अमोल कोल्हे ने नाराजी व्यक्त करते हुए जो औरंगजेब से नहीं हुआ वह काम महाराष्ट्र राज्य सरकार ने कर दिखाया ऐसी कोल्हे ने जोरदार टिका की है।


    अमोल कोल्हे ने अपना व्हिडीओ शेअर कर अपनी प्रतिक्रिया लोगों तक पहुंचाई है। सैनिकों ने कडकोट किले की सुरक्षा के लिए बलिदान दिया उसका आज महाराष्ट्र राज्य सरकार इस तरह अपमान कर रही है ऐसी टिका उन्होंने की। इन किलों में डेस्टिनेशन वेडिंग करने किसे मुनासिब है ? क्योंकि सामान्य मिडल क्लास परिवार तो ऐसे डेस्टिनेशन के किराए तक को सुनकर चौक जाएंगे। ऐसे में जो लोग ऐसे डेस्टिनेशन वेडिंग का किराया दे सकते है क्या उन्हे अपने इतिहास की कोई जानकारी है या उनके मन में गडकिलों के प्रति सम्मान है ? ऐसा सवाल भी उन्होंने उपस्थित किया। महाराष्ट्र का स्वाभिमान इस तरह से सढक पर लाने का क्या कारण है ? ऐसा भी उन्होंने कहते हुए राज्य सरकार और सत्तापक्ष पर टिका की।

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad