Header Ads

  • ताजा खबरें

    मुरबाड विधानसभा: मुझे विश्वास है पार्टी मेरे साथ इस बार अन्याय नही करेगी -नंदकिशोर पातकर

    Badlapur (Maharashtra Development Media) - Assembly elections in Maharashtra are scheduled on October 21. In Murbad assembly constituency of Thane district, the round of assembly elections has started. Nandkishore Rambhau Patkar, senior former city president and senior former municipal councilor of Kulgaon Badlapur municipality, is keen to contest elections from Murbad assembly constituency on the bar of the Bharatiya Janata Party. He started social service from the last 45 years, entering politics with the Bharatiya Janata Party, today he is 65 years old and even today he is engaged in public service as an officer of the Bharatiya Janata Party.  Nandkishore Rambhau Patkar is one such person of Badlapur city who is well known to the voters of Badlapur city, Gramin, Ambernath taluka, Kalyan Gramin to Murbad city and every village of taluka. Nandkishore Rambhau Patkar As the city president in Kulgaon Badlapur municipality for the last 9 years, he successfully launched many schemes in the city interest and city development, due to which, voters of Badlapur city still see the name of Nandkishor Rambhau Patkar after seeing the huge roads and development. Let's discuss He started public service in the Bharatiya Janata Party ever since the Congress and the nationalists had power in the central and state government. At the time, he strengthened the Bharatiya Janata Party in Badlapur city and Murbad along with elected workers who were counted as the opposition. When the Bharatiya Janata Party had its worst days, the devout Nandkishore Rambhau Patkar made his contribution in the city development by connecting the members with the citizens and increasing public relations by staying in the party. He is an engineer by profession, is very well educated and due to being from a good family, he has a very good statue in Badlapur city. For 65 years of age, he also works for 18 hours like a youth, does social service, contributes to the schemes of city interest through the party. Recently, Reliance Gas Company had done injustice to some farmers and first came out in the field and raised voice against a big company like Reliance, standing in favor of the farmer, BJP's Nandkishore Patkar after which his popularity was increased I was seen growing. He has also prepared a 24-hour water scheme, which he is now working on, to solve the problem of drinking water in Badlapur. Along with this, they are also working on behalf of the Bharatiya Janata Party to provide employment to young girls of the city of Badlapur as well as young people of Murbad assembly. He also made several plans in the interest of the handicap specially disabled people of the city while he was the city president in local administration, due to which the handicaps of Badlapur still bless him. Nandkishore (Rambhau) Patkar, who holds such a 360 degree social leadership, was contemplating to set up the party as a candidate for MLA from Murbad assembly constituency in the 2014 elections but at the last moment, the Nationalist Party's shop was locked. Kisan Kathore came to the party with the flag on his shoulder and took the tikit from the Murbad assembly for the assembly elections. This was the first discussion in the city when the Bharatiya Janata Party had done injustice to the party worker Nandkishore (Rambhau) Patkar for 40-45 years with selfless spirit. But the party did not betray the party in spite of giving the Kisan Kathore a favor, but instead obeying the order of the party, he vigorously propagated the Kisan Kathore, who was present at the same time as a guest Made an MLA. At that time, the Nationalist candidate, the indirect candidate as well as the Shiv Sena candidate against Kisan Kathore were standing in the election. But at that time, due to the Modi wave, the Bharatiya Janata Party won the assembly elections. At that time, hundreds of loyal activists including Nandkishore Rambhau Patkar, to win Kisan Kathore, increased public relations by one day in the campaign and sent Kisan Kathore to the Assembly.  After winning Kisan Kathore in the 2014 election, Nandkishore (Rambhau) again got busy with his interests and development work while continuing his social service. This time the assembly elections of 2019 are going to be held and this time all the villages from Murbad to Badlapur - the loyal workers of the BJP of the city, this time Nandkishore (Rambhau) Patkar has demanded that the party should give the election. But this time again the current MLA Kisan Kathore is also seeking the cause of the party, due to which the loyal workers of the party are strongly opposing Kisan Kathore and how long the Bharatiya Janata Party will do injustice to the loyal workers. Citizens and leaders of the entire Murbad assembly constituency have their eyes on what the Bharatiya Janata Party Hyakmand decides this time, with 80 percent of its party members Nandkishore (Rambhau) Patar demanding otherwise, this time Sharad Mhatre.  When Maharashtra Vikas Media spoke to senior BJP leader Nandkishore (Rambhau) Patkar on this subject, he expressed his reaction saying that, till date, he has spent his entire life serving the party and voters. Today, it has been 65 years now, forcing social service and BJP party. Now in the 2019 elections, if the party again does not think about them, it will give the other candidate a chance.
    बदलापूर (महाराष्ट्र विकास मिडिया)- महाऱाष्ट्र में विधानसभा चुनाव 21 अक्टूबर को होनेवाला है। ठाणे जिला के मुरबाड विधानसभा क्षेत्र में भी विधानसभा का चुनाव का रौमांचक दौर शुरु हो चुका है। मुरबाड विधानसभा क्षेत्र से एस बार भारतीय जनता पार्टी के तिकीट पर चुनाव लढने के लिए कुलगांव बदलापूर नगरपालिका के वरिष्ठ पूर्व नगर अध्यक्ष एवं वरिष्ठ पूर्व नगरपार्षद नंदकिशोर रामभाऊ पातकर इच्छुक उममीदवार है। वे पिछले 45 सालों से भारतीय जनता पार्टी के साथ उन्होंने राजनिती में प्रवेश करते हुए समाजसेवा का कार्य शुरु किया था आज उनकी उम्र 65 साल है और आज भी वे भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारी के रुप में जनसेवा में जुटे है।

    नंदकिशोर रामभाऊ पातकर बदलापूर शहर के एक ऐसी हस्ती है जिन्हे बदलापूर शहर, ग्रामिण, अंबरनाथ तालुका, कल्याण ग्रामिण से लेकर मुरबाड शहर और तालुका के हर एक गाव के वोटर बडे ही अच्छे से जानते है। नंदकिशोर रामभाऊ पातकर पिछले 9 साल कुलगांव बदलापूर नगरपालिका में नगर अध्यक्ष के रुप में उन्होंने शहर हित में और शहर विकास में कई सारी योजनाओं को सफलतापुर्वक शुरु किया जिसके कारण आज भी बदलापूर शहर के मतदाता बडी सड़कों और विकास को देखकर नंदकिशोर रामभाऊ पातकर के नाम की चर्चा करते है। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी में तब से जनसेवा का कार्य शुरु किया था जब केंद्र और राज्य सरकार में कांग्रेस और राष्ट्रवादी की सत्ता थी। उस वक्त विपक्ष के रुप में गिने चुने कार्यकर्ताओं के साथ उन्होने बदलापूर शहर और मुरबाड में भारतीय जनता पार्टी को मजबुत बनाया। भारतीय जनता पार्टी के जब बुरे दिन थे उस वक्त निष्ठापुर्वक नंदकिशोर रामभाऊ पातकर ने पार्टी में रहकर सदस्यों को जोडकर नागरिकों से जनसम्पर्क बढाते हुए शहर विकास में अपना योगदान दिया। वे पेशे से इंजिनिअर है, बडे ही सुशिक्षित है और अच्छे परिवार से होने के कारण बदलापूर शहर में उनकी अच्छी खासी प्रतिमा है। आयु के 65 वे साल वे भी वे नौजवान की तरह 18 घंटे काम करते है, समाजसेवा करते है, पार्टी के माध्यम से शहर हित की योजनाओं में अपना योगदान देते है। हालही में रिलायन्स गैस कम्पनी ने जिसप्रकार कुछ किसानों पर अन्याय किया था उसके विरोध में सबसे पहले मैदान में उतरकर रिलायन्स जैसे बडे कंपनी के खिलाफ आवाज उठाते हुए किसान के हक में खडा होने का काम भाजपा के नंदकिशोर पातकर ने किया था जिसके बाद उनकी लोकप्रियता किसानों में भी बढती नजर आई। उन्होंने बदलापूर में पीने के पानी की समस्या सुलझाते हुए 24 घंटे पानी की योजना भी बनाई है जिस योजना पर वे अब काम कर रहे है। साथ ही भारतीय जनता पार्टी की ओर से बदलापूर शहर के साथ साथ मुरबाड विधानसभा के नवजवानों को युवा पिढीको रोजगार दिलाने के लिए भी वे विषय पर भी वे काम कर रहे है। उन्होंने स्थानिय प्रशासन में नगर अध्यक्ष रहते वक्त शहर के हैंडिकैप स्पेशली डिसेबल लोगों के हित में भी कई योजनाए बनाई थी जिसके कारण आज भी बदलापूर के हैंडिकैप उनको आशिर्वाद देते है। इस तरह का 360 डीग्री सामाजिक नेतृत्व रखनेवाले नंदकिशोर (रामभाऊ) पातकर को 2014 के चुनाव में मुरबाड विधानसभा क्षेत्र से विधायक के उम्मीदवार के तौर पर पार्टी खडा करने का विचार कर रही थी लेकिन ऐन वक्त पर राष्ट्रवादी पार्टी की दुकान को ताला मारकर भारतीय जनता पार्टी का झंडा कंधे पर लिये किसन कथोरे पार्टी में आए और उन्होंने विधानसभा चुनाव के लिए मुरबाड विधानसभा से तिकीट ले लिया। यह पहली बार जब भारतीय जनता पार्टी ने 40-45 साल निःस्वार्थ भावना से पार्टी का काम करनेवाले कार्यकर्ता नंदकिशोर (रामभाऊ) पातकर पर अन्याय किया था ऐसी उस वक्त शहर में चर्चा थी। लेकिन पार्टी ने किसन कथोरे को तिकीट देने के बावजुद नंदकिशोर (रामभाऊ) पातकर ने पार्टी के साथ गद्दारी नहीं की, बल्कि उन्होंने पार्टी के आदेश का पालन करते हुए मेहमान की तरह ऐन मौके पर पधारे हुए किसन कथोरे का जोरदार प्रचार किया और उन्हे बहुमतों से विधायक बनाया। उस वक्त किसन कथोरे के खिलाफ राष्ट्रवादी के उम्मीदवार, अपक्ष उम्मीदवार साथ ही शिवसेना के उम्मीदवार चुनाव मैदान में खडे थे। लेकिन उस वक्त मोदी लहर चलने से भारतीय जनता पार्टी को विधानसभा चुनाव में जीत हासिल हुई। उस वक्त किसन कथोरे को जीताने के लिए नंदकिशोर रामभाऊ पातकर सहित सैकडों निष्ठावान कार्यकर्ताओं ने प्रचार में दिन रात एक कर जनसम्पर्क को और बढाया और किसन कथोरे को विधानसभा में पहुंचाया।


    2014 के चुनाव में किसन कथोरे को जीताने के बाद फिर नंदकिशोर (रामभाऊ) पातकर अपने समाजसेवा के कार्य को जारी रखते हुए शहर हित और विकास कार्यों में व्यस्त हुए। इस बार 2019 का विधानसभा चुनाव होनेवाला है और इस बार मुरबाड से लेकर बदलापूर तक सभी गांव - शहर के भाजपा के निष्ठावान कार्यकर्ता इस बार नंदकिशोर (रामभाऊ) पातकर को पार्टी ने चुनाव का तिकीट देना चाहिए ऐसी मांग की है। लेकिन इस बार फिरसे वर्तमान विधायक किसन कथोरे भी पार्टी से तिकीट मांग रहे है जिसके कारण पार्टी के निष्ठावान कार्यकर्ता किसन कथोरे का जमकर विरोध कर रहे है और कब तक भारतीय जनता पार्टी निष्ठावान कार्यकर्ताओं के साथ अन्याय करेगी ऐसा सवाल पुछने लगे। पार्टी की 80 प्रतिशत सदस्य नंदकिशोर (रामभाऊ) पातकर अन्यथा शरद म्हात्रे को इस बार विधायक का चुनाव तिकीट देने की मांग करने से भारतीय जनता पार्टी हायकमांड इस बार क्या निर्णय लेती है इसपर पुरे मुरबाड विधानसभा क्षेत्र के नागरिकों और नेताओं की नजर है।


    इस विषय पर महाराष्ट्र विकास मिडिया ने जब भाजपा के वरिष्ठ नेता नंदकिशोर (रामभाऊ) पातकर से बातचित की तब उन्होंने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए बताया कि, उन्होंने आज तक पार्टी और मतदाताओं की सेवा करने में ही अपना पुरा जीवन व्यतीत किया है। समाजसेवा और भाजपा पार्टी को मजबुत करते करते आज वे 65 साल को हो चुके है। अब 2019 के चुनाव में फिरसे पार्टी अगर उनके बारे में ना सोचते हुए दुसरे उम्मीदवार को तिकीट देगी तो वे क्या 70 वे साल विधायक के चुनाव का तिकीट मांगे ? 2014 के विधानसभा चुनाव के वक्त ही भारतीय जनता पार्टी के बदलापूर और मुरबाड के निष्ठावान सदस्य पार्टी के निर्णय से नाराज थे लेकिन संस्कारी होने से उन्होंने आदेश का पालन किया लेकिन इस बार फिर उन कार्यकर्ताओं को नाराज करना ठिक बात नहीं। ऐसे कहते हुए उन्होंने कहा कि, मुझे विश्वास है कि पार्टी इस बार मेरे पर अन्याय नहीं करेगी और आनेवाले विधानसभा चुनाव के उम्मीदवार के रुप में मेरे नाम की घोषणा करेगी और मै बहुमत से जीतकर आऊंगा यह मेरा दावा है।


    पार्टी ने तिकीट ना देने पर क्या वे बगावत करेंगे ऐसा प्रश्न पुछने पर नंदकिशोर रामभाऊ पातकर ने कहा कि, जिस पौधे को हमने 40-45 साल पहले लगाया था, उसका संगोपन किया था, उसे बडा किया आज उसी पेड को काटने का हम सोच भी नही सकते। बगावत करना हमारे खुन में नहीं है। आजतक निःस्वार्थ भावने से हमने पार्टी का काम किया है आगे भी करते रहेंगे लेकिन इस बार पार्टी का गलत निर्णय़ होनेपर आनेवाली भाजपा निष्ठावान कार्यकर्ताओं के पिढीयों का मनोबल टूट जाएगा। पार्टी से उन निष्ठावान सदस्यों की आस्था पुरी तरह खत्म हो चाएगी और ऐसी होना पार्टी के लिए उचित नहीं होगा।


    बदलापूर शहर के लोकप्रिय नेता के रुप में प्रसिद्ध रहे नंदकिशोर (रामभाऊ) पातकर इसबार विधानसभा चुनाव में खडे होने को पूरीतरह आन, बान और शान से खडे होने से वर्तमान विधायक किसन कथोरे और उनके समर्थक बौखला गये है ऐसी शहर में चर्चा है।

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad