Header Ads

  • ताजा खबरें

    शिवसेना बदलापूर शहरप्रमुख की बदनामी करते थे नगरसेवक शैलेश वडनेरे, क्रोधीत होकर शिवसैनिकों ने कार्यालय कि तोडफोड की -वामन म्हात्रे ने वारदात की जिम्मेदारी स्विकारी

    Badlapur (Maharashtra Development Media) - The public relations office of Shiv Sena corporator Shailesh Kesarinath Vadnere in Dattwadi was broken by the Shiv Sena city chief, corporators and officials of Badlapur on Thursday afternoon. Shailesh Vadnere, after complaining of this incident to the police station, a case was registered against all the said criminals. After this incident, Shiv Sena city chief Vaman Barku Mhatre has contacted the media and accepted the responsibility of the incident.  Shiv Sena city chief Vaman Barku Mhatre told Maharashtra Vikas Media that, he has been working for the last several years on the post of head of the Shiv Sena party in Badlapur city. In the work of city interest as well as increasing the party, in this work, they always carry the party together. During this time, many people protested against him, many also tried to get in the way of his work, but he always kept ignoring all these things and was busy in reinforcing the Shiv Sena party's foundation in Badlapur and Murbad taluka. But for the last few days, Shiv Sena corporator Shailesh Vadnere used to slander his name everywhere from Badlapur to Murbad. Shiv Sena city head T.D.R. Shiv Sena was trying to negate the image of Badlapur city chief by saying that he is in a scam. In such a situation, the Shiv Sainiks of Badlapur city did not like this. Seeing the Shiv Sena maligning the city, the Shiv Sainiks were very angry and finally, fainted in emotions, they broke Shailesh Vadnere in public relations office to teach him a lesson today. In this way, it is not right to take the law in my hand, but I also believe that the way in which the Shiv Sena was purposefully trying to earn respect for Badlapur city chief, it was not seen from the hardcore Shiv Sena of Badlapur. Eventually, those Shiv Sainiks got angry at Vadnere. Vamana Mhatre said that I am responsible for this incident as Shiv Sena city head.  In fact, on Thursday, both the Shiv Sena city head and corporator Shailesh Vadnere were present in the cabinet of Kulgaon Badlapur municipality, when both of them got into a furore, after which the Shivsanik of Badlapur got angry on Shailesh Vadnere and went to his office with a chair, fan, glass They broke and left from there.  Mhatre further says that Shiv Sena corporator Shailesh Vadnere has been roaming in Murbad and Badlapur for the last several months. He is very keen to become MLA in the upcoming assembly elections. In such a situation, Vadnere should directly oppose the current MLA Kisan Kathore and the Bharatiya Janata Party because Kisan Kathore is ruling as a legislator in the Murbad assembly today and not Vaman Barku Mhatre. It is not appropriate to slander me from Badlapur to Murbad. Finally, Mhatre accepted the responsibility of the incident saying.  Tell that, Shiv Sena corporator Shailesh Vadnere has been working in the past several months to build his public relations from Murbad to Badlapur. She is keen to contest from Shiv Sena party in the upcoming assembly elections. In Murbad and Badlapur, they are continuing their efforts to strengthen the strength of the Shiv Sena party, in such a situation, seeing the sudden breaking of their office yesterday, Shailesh Vadnere is not allowed to contest against Bharatiya Janata Party MLA Kisan Kathore There is no indication of such a strong discussion in such a city.  While in opposition to the current Bharatiya Janata Party MLA Kisan Kathore, the willing candidates of the Shiv Sena party are busy preparing for the election, some leaders of Badlapur question how far it is appropriate for their party leader to break the office to such an extent. Are doing  Due to this incident, one member of Shiv Sena party has been damaged and the other member has been sued, while the current MLA of Bharatiya Janata Party will be laughing in their cheeks after seeing the spectacle.
    बदलापूर (महाराष्ट्र विकास मिडिया)- शिवसेना नगरसेवक शैलेश केसरीनाथ वडनेरे के दत्तवाडी स्थित जनसम्पर्क कार्यालय की तोडफोड कल गुरुवार के दिन दोपहर को बदलापूर के शिवसेना शहरप्रमुख, नगरसेवक और पदाधिकारीयों ने की थी। शैलेश वडनेरे ने इस वारदात की शिकायत पुलिस थाने में करने के बाद उक्त सभी अपराधियों पर मामला दर्ज किया गया। इस वारदात के बाद अब शिवसेना शहरप्रमुख वामन बारकु म्हात्रे ने मिडिया से संपर्क करते हुए वारदात की जिम्मेदारी उन्होंने स्विकारी है।


    शिवसेना शहरप्रमुख वामन बारकु म्हात्रे ने महाराष्ट्र विकास मिडिया को बताया कि, वे बदलापूर शहर में शिवसेना पार्टी के शहरप्रमुख पद पर पिछले कई सालों से काम कर रहे है। शहरहित के काम करना साथ ही पार्टी को बढाना इस काम में वे हमेशा पार्टी को साथ में लेकर चलते है। इस दौरान उनके खिलाफ कई बार लोगों ने विरोध किया कईयों ने उनके कामों के आडे आने की कोशिश भी की लेकिन वे हमेशा इन सभी बातों को नजरअंदात करते हुए बदलापूर और मुरबाड तालुका में शिवसेना पार्टी की निंव को मजबुत करने में जुटे रहे। लेकिन पिछले कुछ दिनों से शिवसेना नगरसेवक शैलेश वडनेरे बदलापूर से लेकर मुरबाड तक सभी जगह उनके नाम की  बदनामी करते थे। शिवसेना शहरप्रमुख टी.डी.आर. घोटालेबाज में है ऐसा कहकर शिवसैनिकों में शिवसेना बदलापूर शहरप्रमुख की इमेज को नेगेटिव्ह करने का वडनेरे प्रयास कर रहे थे। ऐसे में बदलापूर शहर के शिवसैनिकों को यह बात ठिक नहीं लगी। शिवसेना शहरप्रमख को बदनाम करता देख शिवसैनिक बडे ही क्रोधीत थे और आखिरकार भावनाओं में बेहकर उन्होंने शैलेश वडनेरे को आज सबक सिखाने के हेतु से उनका जनसम्पर्क कार्यालय में तोडफोड की वारदात को अंजाम दिया। इस प्रकार कानून हाथ में लेना ठिक नहीं है यह मै भी मानता हुं लेकिन जिसप्रकार राजनिती में बेमतलब शिवसेना बदलापूर शहरप्रमुख के इज्जत को तारतार करने का काम वडनेरे कर रहे थे वह सब बदलापूर के कट्टर शिवसैनिकों से देखा नहीं गया। आखिरकार वडनेरे पर बदलापूर के उन शिवसैनिकों का गुस्सा निकल गया। मै शिवसेना शहरप्रमुख के हैसियत से इस वारदात की जिम्मेदारी स्विकारता हुं ऐसा वामन म्हात्रे ने कहा।


    दरअसल, कल गुरुवार के दिन शिवसेना शहरप्रमुख और नगरसेवक शैलेश वडनेरे दोनो कुलगांव बदलापूर नगरपालिका के नगराध्यक्ष कॅबिन में उपस्थित थे उस वक्त दोनों में कुछ नोकझोक हुई जिसके बाद शिवसेना बदलापूर शहरप्रमुख वामन म्हात्रे के समर्थक गट के शिवसैनिक शैलेश वडनेरे पर क्रोधीत हुए और उनके कार्यालय में जाकर कुर्सी, फैन, कांच, कार्यालय के बाहर रखी कार, एक्टीव्हा की तोडफोड कर वहां से चले गये।
    म्हात्रे आगे कहते है कि, शिवसेना नगरसेवक शैलेश वडनेरे पिछले कई महिनों से मुरबाड और बदलापूर में घुम रहे है। आनेवाले विधानसभा चुनाव में विधायक बनने के लिए वे बडे ही उत्सुक है। ऐसे में वडनेरे ने सिधे तौर पर  वर्तमान विधायक किसन कथोरे और भारतीय जनता पार्टी का विरोध करना चाहिये क्योंकि मुरबाड विधानसभा में आज विधायक के रुप में किसन कथोरे राज कर रहे है ना की वामन बारकु म्हात्रे। बदलापूर से मुरबाड तक मेरी बदनामी करना उचित नहीं है ऐसा भी आखिर में म्हात्रे ने कहते हुए वारदात की जिम्मेदारी स्विकारी।


    बतादें कि, शिवसेना नगरसेवक शैलेश वडनेरे पिछले कई महिनों से मुरबाड से बदलापूर तक अपना जनसम्पर्क बनाने में जुटे है। आनेवाले विधानसभा चुनाव में वे शिवसेना पार्टी से चुनाव लढने को उत्सुक भी है। मुरबाड और बदलापूर में उन्होंने शिवसेना पार्टी की निंव भी मजबुत करने के लिए अपने प्रयास जारी रखे है ऐसे में कल अचानक उनके कार्यालय की तोडफोड की वारदात को देख क्या शैलेश वडनेरे को भारतीय जनता पार्टी के विधायक किसन कथोरे के खिलाफ चुनाव ना लढने का यह किसी का संकेत तो नहीं ऐसी शहर में जोरदार चर्चा है।


    जहां भारतीय जनता पार्टी के वर्तमान विधायक किसन कथोरे के विरोध में शिवसेना पार्टी के इच्छुक उम्मीदवार चुनाव लढने की पुरी तैय्यारी में जुटे है वहीं उन्ही के पार्टी के नेता द्वारा इस हद तक कार्यालय की तोडफोड करना कहां तक उचित है ऐसा भी बदलापूर के कुछ नेता सवाल कर रहे है।
    इस वारदात से जहां शिवसेना पार्टी के एक सदस्य का नुकसान हुआ है और दुसरे सदस्य पर मुकदमा दर्ज हुआ ही वहीं भारतीय जनता पार्टी के वर्तमान विधायक बस तमाशा देखकर अपने गालों में ही हस रहे होंगे ऐसी भी शहर में चर्चा है।

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad