Header Ads

  • ताजा खबरें

    पर्मनंट विधायक कहलानेवाले किसन कथोरे का घमंड तोडेगी शिवसेना पार्टी !

    Murbad (Maharashtra Development Media) - BJP BJP MLAs have been on the seventh sky since the election in the Modi wave. Not only the voters, but the face value of Prime Minister Modi has shown him in the elections, it is being seen the story of the Bharatiya Janata Party MLAs. The MLAs of Murbad assembly are also seeing themselves flying in the sky, so that is why no one can beat them by giving them the tagline of the first permanent MLA in their name.  Let me tell you that for the last several years, there was no strong candidate against Kishan Kathore, who won the Murbad Assembly elections as an MLA in the Nationalist Party and later in the Bharatiya Janata Party, due to which Kisan, both while being in the Nationalist and also in the Bharatiya Janata Party Kathore started winning elections. But Kisan Kathore's election battle was not so easy. Nationalist candidate Gottiram Pawar, Shiv Sena candidate Vaman Mhatre, both made many efforts to defeat Kisan Kathore and bring a new wave to Murbad, but time did not support them, sometimes because of Modi wave Gottiram Pawar had to give up. But all these elections were seen by the Shiv Sena party every time, and this time, according to the Sutras, the Shiv Sena will field its candidate against the strong candidate Kisan Kathore in order to give a taste to Kisan Kathore.  In fact, for the last few years, the Shiv Sena Party's Badlapur city official Murbad Gramin and has been making a strong investment in the city. At the same time, public relations with voters is also increasing. In such a situation, Bharatiya Janata Party MLA Kisan Kathore has never done any good to anyone other than just Appa Appa, as well as many criminal cases and Charsobisi cases, the negative image of Kisan Kathore in Murbad and Badlapur has now been created. At the same time, Pdit RTI of Badlapur Workers call them straightforward white collar criminal. In such a situation, focusing on the Murbad assembly at the senior level, the Shiv Sena party invited the Gotaram Pawar family, a staunch opponent of Kathore, to the Shiv Sena party in Hali. Accepting that party invitation, Subhash Pawar has apparently made an entry into Shiv Sena and assured to make the party strong in Murbad.  There, Shailesh Vadnere of Shiv Sena from Badlapur, Vaman Mhatre from Vadwali and now Subhash Pawar of Murbad of Shiv Sena Party, while increasing their public relations in Murbad, Shiv Sena Party is developing the Murbad Assembly properly and now the people of Golgappa are feeding them Well no such information is also being given by the Shiv Sena Party in an official manner, there is a discussion in this city.  Let me tell you that when Kisan Kathore did some good work in the Murbad assembly and after the development work, the Maharashtra Vikas Media used to publish the news of her social work, we had her as a journalist even when there was a case of Charos Bisi By publishing the news, people have told about the adventures of Kisan Kathore. When the supporters of Kisan Kathore had said that Kathore is a Permanent MLA, then their development was also published by Maharashtra Vikas, now Shiv Sena is busy in breaking the pride of the current MLA Kisan Kathore, so this news is also meant to make Maharashtra Vikas reach its readers fearlessly. Executive Editor Mahesh Kamat said that the news will be published.
    मुरबाड (महाराष्ट्र विकास मिडिया)- भारतीय जनता पार्टी जिसप्रकार मोदी लहर में चुनाव जितने के बाद से ही मानों भाजपा के विधायकों के पैर सातवे आसमान पर है। मतदाताओं ने नही बल्कि बल्कि प्रधानमंत्री मोदी के फेसवैल्यु ने उन्हे चुनाव में जिताया है ऐसा भारतीय जनता पार्टी के विधायकों का रवय्या देखने को मिल रहा है। मुरबाड विधानसभा के विधायक भी हालफिलहाल खुद को आसमान में उडता देख रहे है शायद इसीलिए उन्हे कार्यकर्ता उनके नाम के पहले पर्मनंट विधायक का टैगलाइन देते हुए उन्हे कोई नही हरा सकता ऐसा चुनावी प्रचार वे कर रहे है ऐसा सुत्रों का कहना है।
    बता दें कि, पिछले कई सालों से राष्ट्रवादी पार्टी और बादमें भारतीय जनता पार्टी में विधायक के रुप में मुरबाड विधानसभा चुनाव जितनेवाले किसन कथोरे के खिलाफ कोई दमदार उम्मीदवार खडा नही हुआ जिसके कारण राष्ट्रवादी में रहते वक्त भी और भारतीय जनता पार्टी में रहते वक्त भी किसन कथोरे चुनाव जितने लगे। लेकिन किसन कथोरे का चुनावी संग्राम इतना आसान नहीं था। राष्ट्रवादी के उस वक्त के उम्मीदवार गोटीराम पवार, शिवसेना के उम्मीदवार वामन म्हात्रे इन दोनों ने हर बार किसन कथोरे को हराने के लिए और मुरबाड में नई लहर लाने के लिए कई प्रयास किए लेकिन कभी समय ने साथ नहीं दिया तो कभी मोदी लहर की वजह से गोटीराम पवार को हार मानना पडा। लेकिन इन सभी चुनावों को शिवसेना पार्टी ने हर बार बडे ही बारिकीसे देखा और इस बार किसन कथोरे को टफफाईट देने के लिए शिवसेना अपना दमदार उम्मीदवार किसन कथोरे के खिलाफ मैदान में उतारेगी ऐसा सुत्रों का कहना है।


    दरअसल, पिछले कुछ साल से शिवसेना पार्टी के बदलापूर शहर के पदाधिकारी मुरबाड ग्रामिण और शहर में अपनी मजबुत निव बना रही है। साथ ही मतदाताओं से जनसम्पर्क भी बढा रही है। ऐसे में भारतीय जनता पार्टी के विधायक किसन कथोरे ने सिर्फ अप्पा अप्पा करनेवालों के अलावा किसी और का भला कभी नहीं किया साथ ही उनपर अब कई क्रिमिनल केस और चारसोबिसी के केस लगने से मुरबाड और बदलापूर में किसन कथोरे की नेगेटिव्ह इमेज अब बन चुकी है। वहीं बदलापूर के पिडीत आर.टी.आय. कार्यकर्ता तो उन्हे सिधे सिधे व्हाईट कॉलर क्रिमीनल कहते है। ऐसे में शिवसेना पार्टी वरिष्ठ स्तर पर मुरबाड विधानसभा पर ध्यान देते हुए हालहि में कथोरे के कट्टर विरोधी गोटाराम पवार परिवार को शिवसेना पार्टी में आमंत्रित किया था। उस पार्टी इन्विटेशन को मान देते हुए सुभाष पवार ने शिवसेना में जाहिर रुप से प्रवेश करते हुए पार्टी को मुरबाड में मजबुत बनाने का आश्वासन दिया है।
    वहां बदलापूर से शिवसेना के शैलेश व़डनेरे, वडवली से वामन म्हात्रे और अब शिवसेना पार्टी के ही मुरबाड के सुभाष पवार मुरबाड में अपना जनसम्पर्क बढाते हुए शिवसेना पार्टी ही मुरबाड विधानसभा का सही रुप से विकास करते हुए आप्पा आप्पा कर लोगों को गोलगप्पा खिलाने वालों की अब खैर नहीं ऐसी सुचना भी शिवसेना पार्टी की ओर से अनऑफिशियल रुप से दी जा रही है ऐसी शहर में चर्चा है।


    बता दें कि, जब किसन कथोरे ने मुरबाड विधानसभा में कुछ अच्छा काम किया था और विकास कार्य की बाद थी तब उनके समाजकार्यों की खबर महाराष्ट्र विकास मिडिया प्रकाशित करता था, उनके उपर जब चारसो बिसी की केस लगी उस वक्त भी हमने पत्रकार के रुप में खबर को प्रकाशित कर लोगों तक किसन कथोरे के कारनामें बताए है। जब किसन कथोरे के समर्थकों ने कथोरे ही परमनंट विधायक है ऐसा कहा था तब उनकी भी खबर महाराष्ट्र विकास ने छापी थी अब वर्तमान विधायक किसन कथोरे का घमंड तोडने में शिवसेना जुटी है तो यह खबर भी महाराष्ट्र विकास अपने पाठकों तक पहुंचाने के लिए निर्भिड रुप से खबर प्रकाशित करेगी ऐसा कार्यकारी संपादक महेश कामत ने कहा।

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad